इन्फोसिस छोड़के बेचीं पानीपुरी, खड़ा किया ८० करोड़ का बिज़नेस

इन्फोसिस में सॉफ्टवेयर इंजीनियर की नौकरी प्राप्त करना कई लोगों के लिए एक सपना है, यहाँ एक ऐसे व्यक्ति की कहानी है जिसने अपने सपनों का पालन करने के लिए यह नौकरी छोड़ दी।

इंदौर के रहने वाले प्रशांत कुलकर्णी को बहुत पहले एहसास हो गया था, प्रशांत को दुर्भाग्य से बुरे अनुभव के माध्यम से अपने मिलियन डॉलर का विचार मिला और उन्होंने अक्टूबर २०११ में चटर पटर की शुरुआत की। प्रशांत ने पानीपुरी बेच के ८० करोड़ का बिजनेस खड़ा किया।

प्रशांत कुलकर्णी और विनय कुलकर्णी ने इंदौर की सड़कों पर अक्टूबर २०११ में “चटर पटर” की शरुआत की, और पहले दिन उन्होंने कुछ २०० रुपये कमाए। यह स्वादिष्ट और अधिक महत्वपूर्ण बात थी। आम आदमी का सपना अब हकीकत में बदल रहा था, कुछ हफ्तों के बाद, गुजरात के एक ग्राहकने भी चटर पटर  के स्वाद को पसंद किया।

चटर पटर  में ८० प्रकार के भेल, २७ प्रकार के चाट, पोहे हैं। चटर पटर ११२ अलग-अलग स्वादों में पानीपुरी बेचता है। कुछ प्रसिद्ध वस्तुओं में मैगी गपागप (पानीपुरी + मैगी), मसाला फ्राइज़, चाटीज़्ज़ा (चाट + पिज़्ज़ा), इडली फ्राइज़, इडली चाट और खाखरा चाट शामिल हैं।

प्रशांत ने चटर पटर की शुरुआत कुछ ३०,००० रुपये से की थी, उसके बाद चटर पटर को अमीरा शाह (मेट्रोपोलिस),राहुल सिंह (बियर कैफ़े)  और देवांश जैन (इनॉक्स विंड) की और से १ करोड़ का फण्ड मिला। हाल चटर पटर महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान जैसे राज्यों में बिग-बाजार जैसे मेगा स्टोर्स से जुड़ रहा हे और भारत भर में अपनी फ्रैंचाइज़ी खोल रहा हे।